Wednesday, 25 March 2015

क्या अल्लाह मेरा इम्तिहान लेता है ?

क्या अल्लाह मेरा इम्तिहान लेता है ?
“और हम (अल्लाह) बेशक कुछ डर से, और कुछ  भूख से और कुछ जान-माल से और पैदावार की कमी से,
तुम्हारा इम्तिहान लेंगे. और सब्र से काम लेने वालो को खुशख़बरी सुना दो.”

(क़ुरान : सुरा बक़रा 2/155)

"ज़मीन को हमने खुशनुमा बनाया ताकि अजमाले (इम्तिहान) कौन नेक आमाल करके आता है.
(क़ुरान : सुरा कहफ़ 18/7)

"हर जानदार मौत का मज़ा चखने वाला है हम बटोरे इम्तिहान तुम मे से हर एक को बुराई और बलैई मे डालते है, और तुम सब हमारी ही तरफ लोटने वेल है. (ताकि देखे कों सब्र और शुक्र करने वाला है)
(क़ुरान : सुरा अंबिया 21/35)

“जिसने तय किया मौत और ज़िंदगी को ताकि तुम्हारा इम्तिहान ले के तुम’मे आमाल के नज़र मे कौन सबसे अच्छा है, वो बड़ी हिकमत वाला और बड़ा माफ़ करने वाला है.”
(क़ुरान : सुरा मुल्क 67/2)

अल्लाह हमे हक़ बात समझने की तोफीक अता फरमाये अमीन
आगे पहुचाए अपने कानटेक्ट और ग्रुप पर इंशा अल्लाह

No comments:

Post a Comment

For any query call+919303085901