Thursday, 18 August 2016

DARNA CHAHIYE UN LOGO KO JO HUKME RASOOL KI MUKHALFAT KARTE HAI.


डरना चाहिए उन लोगो को जो हुक्मे रसूल की मुख़ालफ़त करते है


IRSHADE BAARI TA'ALA HAI
"Sunu jo log hukme RASOOL ki mukhalfat karte hai (Khilaaf chalte hai) unhe darte rahna chahiye ke kahi un par koi jabardast aafat na aa pade ya unhe dardnaak azaab na aa pahuche.
QURAN (Surah Noor 24/63)

Yani NABI KARIM SAW. ke manhaz (Tarike) aur sunnat ko har waqt saamne rakhna,
Isliye ke jo tarika aur amal aap ke mutabik hoge wahi BARGAH E ILAHI men makbool aur dusre sab mardud hoge.


FARMANE NABVI HAI.

Jisne hamare is deen me kuch aisi baat shamil ki (Gair Nabi Ka Tarika) jo usme se nahi hai to wo mardud hai.
(Sahi'h Bukhari : 2697 / Sahi'h Muslim : 1718).

इरशादे बारी त'आला है
"सुनू जो लोग हुक्मे रसूल की मुख़ालफ़त करते है (खिलाफ चलते है) उन्हे डरते रहना चाहिए
के कही उन पर कोई जबरदस्त आफ़त ना आ पड़े या उन्हे दर्दनाक अज़ाब ना आ पहुचे.

क़ुरान (सुराह नूर 24/63)

यानि नबी करीम सल्ल. के मनहज (तरीके) और सुन्नत को हर वक़्त सामने रखना,
इसलिए के जो तरीका और अमल आप के मुताबिक होगे वही बरगाह ए इलाही में मक़बूल है और दूसरे सब मर्दुद होगे.


फरमाने नब्वी है.
जिसने हमारे इस दीन मे कुछ ऐसी बात शामिल की (गैर नबी का तरीका) जो उसमे से नही है तो वो मर्दुद है.
(सही'ह बुखारी : 2697 / सही'ह मुस्लिम : 1718)

ALLAH HAME HAQ BAAT SAMJHNE KI AUR SAHI AMAL KARNE KI TOFFIK ATA FARMAYE AAMIN......

No comments:

Post a Comment

For any query call+919303085901