Tuesday, 1 November 2016

A NABI SAW. UNHE DARDNAK AZAAB KI KHUSH KHABRI SUNA DO.


ए नबी सल्ल. उन्हे दर्दनाक अज़ाब की खुश खबरी सुना दो.


IRSHADE BAARI TA'ALA HAI.
Jo Aayate ilahi apne samne padhi jati  hui sune phir bhi garur karta hai apni baat par ada rahta hai
jaise usne suna hi nahi to aise logo ko dardnak azaab ki khush khabri suna do.
Wo jab hamari aayato men se kuch jaan leta hai to mazak banata hai aise hi logo ke liye ruswakun azaab hai.
Un ke piche jahnnam hai jo kuch unhone hasil kiya tha kuch kaam na aayega aur na wo jinko ALLAH ke siwa karsaz bana rakha tha un ke liye to bahut bada azaab hai.

QURAN (Surah Jasiya 45/8-10)

इरशादे बारी त'आला है.
जो आयाते इलाही अपने सामने पढ़ी जाती हुई सुने फिर भी गरूर करता है अपनी बात पर अड़ा रहता है
जैसे उसने सुना ही नही तो ऐसे लोगो को दर्दनाक अज़ाब की खुश खबरी सुना दो.
वो जब हमारी आयतो में से कुछ जान लेता है तो मज़ाक बनाता है ऐसे ही लोगो के लिए रुस्वाकुन अज़ाब है.
उन के पीछे जह्न्नम है जो कुछ उन्होने हासिल किया था कुछ काम ना आएगा और ना वो जिनको अल्लाह के सिवा कारसज़ बना रखा था उन के लिए तो बहुत बड़ा अज़ाब है.

क़ुरान (सुराह जासिया 45/8-10)

ALLAH HAME HAQ BAAT SAMJHNE KI AUR SAHI AMAL KARNE KI TOFFIK ATA FARMAYE AAMIN......

No comments:

Post a Comment

For any query call+919303085901