Wednesday, 8 February 2017

ALLAH NAMAZ KE JARIYE GUNAHO KO MITA DETA HAI.


अल्लाह नमाज़ के ज़रिये गुनाहो को मिटा देता है.


IRSHADE BAARI TA'ALA HAI.
 ۭاِنَّ الصَّلٰوةَ تَنْهٰى عَنِ الْفَحْشَاۗءِ وَالْمُنْكَرِ 
Beshak namaz aadami ko behayai aur bure kamo se rokati hai.
QURAN (Surah Ankabut 29/45)

FARMANE NABVI HAI.
NABI KARIM (sallallaahu alaihi wasallam) ne farmaya.
Ai mere sahaaba! Agar tum men se kisi aadami ke darwaze par nahar bah rahi ho aur wo usme rozana 5 waqt nahaye to tumhara kya khyal hai
ki uske mail-kuchail (Gandagi) men se koi chij baki rah jayegi?
Sahaaba ne kaha nahi! ALLAH KE RASOOL Aap ne farmaya pas yahi misaal 5 namazo ki hai. unke sath ALLAH gunaho ko mita deta hai.

HADEES (Sahi'h Muslim : 1522)


इरशादे बारी त'आला है.
बेशक नमाज़ आदमी को बेहयाई और बुरे कामो से रोकती है.
क़ुरान (सुराह अंकबूत 29/45)

फरमाने नब्वी है.
नबी करीम (सल्लल्लाहु अलैही वसल्लम) ने फरमाया.
ऐ मेरे सहाबा! अगर तुम में से किसी आदमी के दरवाज़े पर नहर बह रही हो और वो उसमे रोज़ाना 5 वक़्त नहाए तो तुम्हारा क्या ख्याल है की उसके मैल-कुचैल (गंदगी) में से कोई चीज़ बाकी रह जाएगी? सहाबा ने कहा नही! अल्लाह के रसूल आप ने फरमाया पस यही मिसाल 5 नमाज़ो की है. उनके साथ अल्लाह गुनाहो को मिटा देता है.
हदीस (सही'ह मुस्लिम : 1522)

ALLAH HAME HAQ BAAT SAMJHNE KI AUR SAHI AMAL KARNE KI TOFFIK ATA FARMAYE. {AAMIN}

No comments:

Post a Comment

For any query call+919303085901