Wednesday, 8 February 2017

ALLAH TA'ALA HI NAFA AUR NUKSAN KA MALIK HAI.


अल्लाह त'आला ही ऩफा और नुकसान का मालिक है.


IRSHADE BAARI TA'ALA HAI.
وَاِنْ يَّمْسَسْكَ اللّٰهُ بِضُرٍّ فَلَا كَاشِفَ لَهٗٓ اِلَّا هُوَ ۭ وَاِنْ يَّمْسَسْكَ بِخَيْرٍ فَهُوَ عَلٰي كُلِّ شَيْءٍ قَدِيْرٌ
Aur agar tujh ko ALLAH koi taklif (Nuksan) pahuchaye to us ko door karne wala ALLAH se siwa koi nahi, aur agar tujh ko ALLAH koi nafa (Fayda) pahuchaye to ALLAH har chij par puri kud'rat rakhane wala hai.
QURAN (Surah Ann'aam 6/17)

FARMANE NABVI HAI.

HAZRAT Ibne Abbas se (HAZRAT MUHAMMAD sallallahu alaihi wasallam) ne farmaya' Aur jab tu sawal kare to ALLAH se sawal (Manga) kar,  aur jab madad mange to ALLAH se mang aur yakin kar ke agar sari duniya tujhe koi nafa pahuchana chahe ya nuksan pahuchana chahe to sirf itna jitna ALLAH ne tere bare men likh diya hai aur kalam utha liya gaya hai.
HADEES (Sahi'h Al Jaami As Sagheer : 7957)

इरशादे बारी त'आला है.
और अगर तुझ को अल्लाह कोई तकलीफ़ (नुकसान) पहुचाए तो उस को दूर करने वाला अल्लाह से सिवा कोई नही, और अगर तुझ को अल्लाह कोई ऩफा (फ़ायदा) पहुचाए तो अल्लाह हर चीज़ पर पूरी कूद'रत रखने वाला है.
क़ुरान (सुराह अन्न'आम 6/17)

फरमाने नब्वी है.
हज़रत इबने अब्बास से (हज़रत मुहम्मद सल्लल्लाहु अलैही वसल्लम) ने फरमाया' और जब तू सवाल करे तो अल्लाह से सवाल (माँगा) कर, और जब मदद माँगे तो अल्लाह से माँग और यकीन कर के अगर सारी दुनिया तुझे कोई ऩफा पहुचाना चाहे या नुकसान पहुचाना चाहे तो सिर्फ़ इतना जितना अल्लाह ने तेरे बारे में लिख दिया है और कलाम उठा लिया गया है.
हदीस (सही'ह अल जामी अस सग़ीर : 7957)

ALLAH HAME HAQ BAAT SAMJHNE KI AUR SAHI AMAL KARNE KI TOFFIK ATA FARMAYE. {AAMIN}

No comments:

Post a Comment

For any query call+919303085901