Wednesday, 8 February 2017

APAS MEN IKHTILAF NA KARO BARBAD HO JAOGE.


आपस में इख्तिलाफ ना करो बर्बाद हो जाओगे.


FARMANE NABVI HAI.
NABI KARIM (sallallaahu alaihi wasallam) ne farmaya. Apas men (Quran ke bare men) ikhtilaf na kiya karo tumse pahle log isi kism ke jhagdo ki wajah se tabah ho gaye.HADEES (Sahi'h Bukahri : 3476)

Bila shubha tum pahle log ALLAH ki kitab ke bare men (Jo unke paas huaa karti thi) apsi ikhtilaf ki wajah se halak aur barbad ho gayeHADEES (Sahi'h Muslim : 6776)

Jab tum un logo ko dekho jo mutshaabeh aayat (Jinke bare men ALLAH ke siwa koi nahi janta) ka khol nikalate hai (Taki wo unke jariye ahle imaan se jhagda kar sake) to unse bacho ye wahi log hai jinke bare men ALLAH ne quran men batlaya hai.HADEES (Sahi'h Muslim : 6775)


फरमाने नब्वी है.
नबी करीम (सल्लल्लाहु अलैही वसल्लम) ने फरमाया. आपस में (क़ुरान के बारे में) इख्तिलाफ ना किया करो तुमसे पहले लोग इसी किस्म के झगडो की वजह से तबाह हो गये.हदीस (सही'ह बुखारी : 3476)

बिला शूबा तुम पहले लोग अल्लाह की किताब के बारे में (जो उनके पास हुआ करती थी) आपसी इख्तिलाफ की वजह से हलाक और बर्बाद हो गयेहदीस (सही'ह मुस्लिम : 6776)

जब तुम उन लोगो को देखो जो मुतशाबेह आयात (जिनके बारे में अल्लाह के सिवा कोई नही जनता) का खोल निकलते है (ताकि वो उनके ज़रिए अहले ईमान से झगड़ा कर सके) तो उनसे बचो ये वही लोग है जिनके बारे में अल्लाह ने क़ुरान में बतलाया है.हदीस (सही'ह मुस्लिम : 6775)

ALLAH HAME HAQ BAAT SAMJHNE KI AUR SAHI AMAL KARNE KI TOFFIK ATA FARMAYE. {AAMIN}

No comments:

Post a Comment

For any query call+919303085901