Wednesday, 8 February 2017

JO ALLAH KA QURB HASIL KARTA HAI ALLAH USE MEHFUZ RAKHTA HAI.

जो अल्लाह का क़ुर्ब हासिल करता है अल्लाह उसे महफूज़ रखता है.


FARMANE NABVI HAI.
NABI KARIM (sallallaahu alaihi wasallam) ne farmaya.
ALLAH subhanahu farmata hai  Jisne mere kisi wali (Dost) se Dushmani ki usey meri taraf se Elan-e-Jung hai  aur Mera banda jin jin ibadaton se Mera Qurb hasil karta hai  (yani mere kareeb aata hai unmein se) koi ibaadat mujhko us se ziyada  pasand nahi hai jo maine us par farz ki hai ( jaise Namaz Roza , Hajj , Zakat..) Aur mera banda farz Ada karne ke baad Nawafil ibaadat karke mujhse itna ziyada nazdeek ho jata hai ki main us se Muhabbat karne lag jata hu phir jab  main us se Muhabbat karne lag jata hu to Main uska Kaan ban jata hu jis se wo sunta hai,uski Aankh ban jata hu jis se wo dekhta hai , uska haath  ban jatahu jis se wo pakadta hai, uska panw ban jata hu jis se wo chalta hai. Aur agar mujhse maangta hai to main usey deta hu, agar wo kisi Dushman ya shaitan se meri panaah ka talib hota hai to main usko Mehfooz rakhta hun
HADEES (Sahih Bukhari : 6502)


फरमाने नब्वी है.
नबी करीम (सल्लल्लाहु अलैही वसल्लम) ने फरमाया. अल्लाह फरमाता है  जिसने मेरे किसी वाली (दोस्त) से दुश्मनी की उसे मेरी तरफ से एलन-ए-जंग है  और मेरा बंदा जिन जिन इबादतों से मेरा क़ुर्ब हासिल करता है  (यानी मेरे करीब आता है उनमें से) कोई इबादत मुझको उस से ज़्यादा  पसंद नही है जो मैने उस पर फ़र्ज़ की है ( जैसे नमाज़ रोज़ा , हज्ज , ज़कात..) और मेरा बंदा फ़र्ज़ अदा करने के बाद नवाफिल इबादत करके मुझसे इतना ज़ियादा नज़दीक हो जाता है की मैं उस से मुहब्बत करने लग जाता हू फिर जब  मैं उस से मुहब्बत करने लग जाता हू तो मैं उसका कान बन जाता हू जिस से वो सुनता है, उसकी आँख बन जाता हू जिस से वो देखता है , उसका हाथ  बन जाता हूँ जिस से वो पकड़ता है, उसका पांव बन जाता हू जिस से वो चलता है. और अगर मुझसे माँगता है तो मैं उसे देता हू, अगर वो किसी दुश्मन या शैतान से मेरी पनाह का तालिब होता है तो मैं उसको महफूज़ रखता हूँहदीस (सही'ह बुखारी : 6502)

ALLAH HAME HAQ BAAT SAMJHNE KI AUR SAHI AMAL KARNE KI TOFFIK ATA FARMAYE. {AAMIN}

No comments:

Post a Comment

For any query call+919303085901